Tuesday, October 4, 2022
Homeदेशक्या सच में भारत आजाद हो रहा है? आयात का 'इतना' प्रतिशत...

क्या सच में भारत आजाद हो रहा है? आयात का ‘इतना’ प्रतिशत चीन से था

76वें स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में, प्रधान नरेंद्र मंत्री मोदी ने अगले 25 वर्षों में देशवासियों को एक विकसित राष्ट्र बनाने के संकल्प के बारे में बात की है। विकसित राष्ट्र बनने के लिए हमें आत्मनिर्भर बनना होगा। यदि भारत अपने माल के आयात को संतुलित करता है, तो मूल्यवान विदेशी मुद्रा की बचत करने के अलावा, देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार होगा। इससे रोजगार पैदा होगा, प्रति व्यक्ति आय बढ़ेगी, जिससे हम विकसित भारत के सपने को साकार कर सकते हैं।

देश का कुल तेल आयात बिल 12 लाख करोड़ से अधिक है

देश में कच्चे तेल और पेट्रोल उत्पादों का आयात 12 लाख करोड़ से अधिक हो गया है। यह राशि चालू वित्त वर्ष में और अधिक होगी। देश जितनी जल्दी अपने विकल्प की ओर बढ़ेगा, देश की अर्थव्यवस्था उतनी ही मजबूत होगी। इसके बाद कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रॉनिक पार्ट्स, टेलीकॉम इक्विपमेंट, इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट का इंपोर्ट 4 लाख करोड़ से ज्यादा हो जाएगा। इनमें से ज्यादातर चीन और आसियान देशों से आते हैं।

अगर देश में तिलहन का उत्पादन बढ़ता है तो यह सारा पैसा किसान को दिया जाएगा

इस राशि को समझने के लिए एक डायग्राम का प्रयोग किया जाएगा। पिछले साल खरीफ सीजन के दौरान जब देश में 77 लाख किसानों ने अपना अनाज सरकार को एमएसपी पर बेचा था, तो कुल कीमत 1.18 लाख करोड़ रुपये थी। भारत कृषि में इस्तेमाल होने वाले 1.05 लाख करोड़ से अधिक उर्वरकों का आयात करता है।

भारत में सोने का व्यापार

सोने के लिए भारत का प्यार दुनिया को पता है। देश के लाखों लोगों के लिए इस स्वर्णिम योजना के लिए देश 3.44 लाख करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा का भुगतान करता है। भारत अभी भी खाद्य तेल में आत्मनिर्भर नहीं है, भारत का खाद्य तेल आयात बिल पिछले साल 2021-22 में 1.41 लाख करोड़ रुपये था।

देश के पहले सीडीएस दिवंगत बिपिन रावत ने कहा था कि भारत का नंबर एक दुश्मन चीन है। कारण जो भी हो, चीन से ही भारत सबसे ज्यादा आयात करता है। 2021-22 में, भारत ने चीन से 7 लाख करोड़ रुपये से अधिक का आयात किया, जो भारत के कुल आयात बिल का 15 प्रतिशत से अधिक है। ऐसे विश्वासघाती देश पर भरोसा करना भारत की आर्थिक सुरक्षा के लिए भी खतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Comments